Nice Story SMS

Added 2 years ago

[•••" मेरी माँ "•••]
जिन्दगी मेँ कुछ पाया और कुछ खोया,
लेकिन तुझे खोना नही चाहता माँ,

जिन्दगी ने कभी हँसाया और कभी रुलाया,
लेकिन तुझे रुलाना नही चाहता माँ,

याद आती है बहुत मेरे बचपन की वो लोरी,
इसीलिये तेरी गोद के अलावा कही ओर सोना नही चाहता माँ,

कितना ङाटा था तुने बचपन मेँ
अब क्यूँ नही ङाँटती तू मुझे माँ ?

कैसे जिन्दा रह पाऊगाँ मे तेरे बगैर,
कभी फुरसत मिले तुझे तो यह बता माँ,

जिन्दगी तुने तो मेरी रोशन कर दी,
लेकिन खुद किस अँधेरे मेँ खो गयी तु माँ,

कभी तो खिला मुझे अपने हाथ कि रोटी,
आज कल भुख बहुत लगती है मुझे माँ,

कहाँ हो तुम आकर लगाऔ गले से,
इस बेदास 'धान्धल' को,
ना जाने किस काश मेँ निकल जाये जाये मेरी साँसे माँ...!!

I Like SMS - Like: 38 - SMS Length: 1614
Added 2 years ago

•••" NICE STORY "•••
एक हसीन लडकी एक राजा के दरबार मेँ डाँस कर रही थी,
(राजा बदसुरत था)।

निवेदन के बाद,
लडकी ने राजा से एक सवाल की इजाजत तलब
की,

राजा ने कहा कि पुछौ!
लडकी ने कहा कि-
जब खुदा हुस्न तकिशम कर रहा था,
तो आप कहाँ थे?

राजा ने गुस्सा नही किया,
बल्कि मुस्कराते हुए कहा-

जब तुम हुस्न की लाईन मेँ खडी हुस्न ले
रही थी,
तो मै किस्मत की लाईन मेँ खडा किस्मत ले
रहा था
"और"
आज तुझ जैसी हुस्नवालीयाँ मेरी गुलाम है,

इसलिए शायर ने कहा है,-
"हुस्न" ना मांग "नसीब" मांग ऐ दोस्त "हुस्न"
वाले अक्सर "नसीब" वालोँ के गुलाम हुआँ करते
है...!

I Like SMS - Like: 35 - SMS Length: 1335
Added 2 years ago

राम की सेना ने जीती थी रावण की लंका
धोनी की सेना ने फिर से जीती है श्रीलंका

कोई भी ना टिक पाया देश की जीत के आड़े
मुंबई के मैदान में जब भारत के सिंह दहाड़े

बज गए ढोल, बज गए बाजे और बजे नगाड़े
दुनिया के नक़्शे पर हमने जीत के झंडे गाड़े

देश प्रेम के ऐसे दृश्य कहाँ देखने मिलते हैं
होठों पे मुस्कान और आँखों से अश्रु छलकते हैं

चहुँ दिशाओं से बस जयघोष के बोल निकलते हैं
धोनी के वीर धुरंधर जब विजय के पथ पे चलते हैं

देश प्रेम की इस धारा को कभी ना बुझने देंगे
चाहे हो कोई भी जंग तिरंगा कभी ना झुकने देंगे

विश्व विजय के बढते कदम कभी ना रुकने देंगे
अगला विश्व कप भी अब भारत को लाकर देंगे..!

I Like SMS - Like: 31 - SMS Length: 1521
Added 2 years ago

हाँ मैं मिलना चाहती हूँ एक आतंकवादी से
और पूछना चाहती हूँ कुछ सवाल

क्यों हैं तुम्हे खून से इतना प्यार
क्यों करते हो तुम लाशों का व्यापार

क्या चीखो से भरे शहर
नहीं करते तुम पर कोई असर
क्या खून से लथपथ लाशे
तुम्हारे लिए है बस खेल तमाशे

बूढ़े बाप से उसका जवान बेटा छीन
कैसे आती है तुम्हे चैन की नींद

क्या माँ का सूना आँचल
नहीं करता तुम्हे घायल
लोगों को जिंदा जला कर
बुझा देते हो उनके सपने

मौत बांटते हो जब तुम
क्या याद नहीं आते तुम्हें अपने
खत्म नहीं हुए हैं मेरे सवाल

पूछूंगी तुमसे मिलकर
खौफ नहीं है मुझे तुझसे
बल्कि तरस आता है तुझ पर....!!!

I Like SMS - Like: 37 - SMS Length: 1426
Added 2 years ago

खून ये हिन्दुस्तानी है
यही है सागर गंभीर-धीर, दरिया की यही रवानी है
मेरी रग में जो दौड़ रहा है, खून ये हिन्दुस्तानी है.
¤
हम अहिंसा साधक हैं
पर कायर हमें न मानो तुम
मत ललकारो सिंहों को
हमें नज़र खोल पहचानो तुम
¤
अब भी गलियों में भगत सिंह, घर में झाँसी की रानी है
मेरी रग में जो दौड़ रहा है, खून ये हिन्दुस्तानी है.
¤
खुद पर खेल कर लाज बचायी
हर बार हमारी यारी की
पर मौका मिलते ही तुमने
तीन बार गद्दारी की
¤
बेहतर होगा अंजाम समझ लो,
फिर तुम्हे ही मुंह की खानी है
मेरी रग में जो दौड़ रहा है, खून ये हिन्दुस्तानी है.
¤
हम देश की रक्षा करने को
आहुति देने से नहीं डरे
तुम जैसे नापाक, नाकारे
और कायर हम में नहीं भरे
¤
यहाँ देश के नाम पे सुन लो, कुरबां हर एक जवानी है
मेरी रग में जो दौड़ रहा है, खून ये हिन्दुस्तानी है.
¤
हम भाई भाई ही होते
गर खुद को ये समझाते तुम
हम आज भी यार तुम्हारे होते
गर साथ हमारे आते तुम
¤
पर कितना ही तुमको समझाओ,
हर बार की यही कहानी है
मेरी रग में जो दौड़ रहा है, खून ये हिन्दुस्तानी है
By-Rock Star Dhandhal

I Like SMS - Like: 29 - SMS Length: 2308
Added 2 years ago

एक बार संख्या 9 ने 8 को थप्पड़ मारा:-
8 रोने लगा.....
पूछा मुझे क्यों मारा..?
9 बोला.....
मैं बड़ा हु इसीलए मारा..
सुनते ही 8 ने 7 को मारा
और 9 वाली बात दोहरा दी
7 ने 6 को....
6 ने 5 को....
5 ने 4 को....
4 ने 3 को....
3 ने 2 को....
2 ने 1 को....
अब 1 किसको मारे
1 के निचे तो 0 था !
1 ने उसे मारा नहीं
बल्कि प्यार से उठाया
और उसे अपनी बगल में
बैठा लिया..!
जैसे ही बैठाया....
उसकी ताक़त 10 हो गयी..!
Give Respect &
be eligible for respect..!
जिन्दगीं में किसी का साथ काफी हैं,,
कंधे पर किसी का हाथ काफी हैं,,
दूर हो या पास.....
क्या फर्क पड़ता हैं,,
"अनमोल रिश्तों"
का तो बस "एहसास" ही काफी हैं...!

I Like SMS - Like: 44 - SMS Length: 1278
akash Posted In Story SMS
Added 2 years ago

एक बेटा अपने वृद्ध पिता को रात्रि भोज के लिए
एक अच्छे रेस्टॉरेंट में लेकर गया।
खाने के दौरान वृद्ध और कमजोर पिता ने कई बार
भोजन अपने कपड़ों पर गिराया।
रेस्टॉरेंट में बैठे दुसरे खाना खा रहे लोग वृद्ध को
घृणा की नजरों से देख रहे थे लेकिन वृद्ध का बेटा
शांत था।
खाने के बाद बिना किसी शर्म के बेटा, वृद्ध को
वॉश रूम ले गया। उसके कपड़े साफ़ किये, उसका
चेहरा साफ़ किया,
उसके बालों में कंघी की, उसे चश्मा पहनाया और
फिर बाहर लाया।
सभी लोग खामोशी से उन्हें ही देख रहे थे।
बेटे ने बिल पे किया और वृद्ध के साथ बाहर जाने
लगा।
तभी डिनर कर रहे एक अन्य वृद्ध ने बेटे को आवाज
दी और
उससे पूछा---" क्या तुम्हे नहीं लगता कि यहाँ अपने
पीछे तुम कुछ छोड़ कर जा रहे हो ?? "
बेटे ने जवाब दिया---" नहीं सर, मैं कुछ भी छोड़ कर
नहीं जा रहा। "
वृद्ध ने कहा---" बेटे, तुम यहाँ छोड़ कर जा रहे हो,
प्रत्येक पुत्र के लिए एक शिक्षा (सबक) और प्रत्येक
पिता के लिए उम्मीद

I Like SMS - Like: 48 - SMS Length: 2099
« Previous 1 2 3 4 5 Next »
Jump to Page