Love - Romantic SMS

Added 11 months ago

इश्क-ऐ-दरिया में हम डूब कर भी देख आये ,वो लोग मुनाफे में रहे जो किनारे से लौट आये ..

I Like SMS - Like: 10 - SMS Length: 206 - Share
Tags: Love SMS
Added 11 months ago

उससे कहना थक गया हूँ मैं खुद को साबित करते करते,
मेरे तरीके गलत हो सकते हैं लेकिन इरादे नहीं…

I Like SMS - Like: 17 - SMS Length: 240 - Share
Tags: Sad SMS
Added 11 months ago

Ham Na Pa Sake Tujhe Muddaton Se Chahne Ke Baad....
.Aur.
Kisi Ne Apna Bana Liya Tujhe Chand Rasmein Nibhane Ke Baad......

I Like SMS - Like: 12 - SMS Length: 124 - Share
Tags: Sad SMS
Added 11 months ago

आजमा कर देखिए हर शख्स को दुनिया में
वो पहले वफा दिखाते हैं, फिर दगा करते हैं

वफा करते हैं ताकि ऐतबार वो पा ले आपका
फिर बेवफाई का फर्ज वो अदा करते हैं

वो अपना काम निकालते हैं कुछ इस हुनर से
कि आप धोखे खाकर भी उनसे मिला करते हैं

आपकी जान कब वो लेगा, ये खबर नहीं आपको
और आप उनकी सलामती की दुआ करते हैं

एक दिन दिल तोड़ता है वो शख्स मुस्कुराकर
रो-रो के तब खुद ही से आप गिला करते हैं

होता है तज़रबा ऐसा कि दुनिया की राह पे
आदमी से बच-बच कर आप चला करते हैं

परायों को तो खैर आप दुश्मन समझते ही हैं
अपनों से भी डर-डर कर रहा करते हैं

कोसते रहते हैं अपनी जिंदगी को उम्रभर
भीड़ में हंसते हैं मगर तन्हाई में रोया करते हैं

I Like SMS - Like: 15 - SMS Length: 1576 - Share
Added 11 months ago

अब जानेमन तू तो नहीं, शिकवा-ए-गम किससे कहें
या चुप रहें या रो पड़ें, किस्सा-ए-गम किससे कहें

मुझे देखते ही हर निगाह पत्थर सी क्यूं हो गई
जिसे देख दिल हुआ उदास,हैं आंखें नम,किससे कहें

इस शहर की वीरां गुलशनें, हैं फूल कम, कांटे कई
दामन मेरा छलनी हुआ, हम दर्दो-गम किससे कहें

कोई रहगुज़र तो देर तक टिकता नहीं कदमों तले
तेरा निशां है कहीं नहीं, मंज़िल न सनम, किससे कहें

I Like SMS - Like: 14 - SMS Length: 935 - Share
Added 11 months ago

एक तक़लीफ़ उमड़ती है मेरे सीने में
अरे बेदर्द आता है क्यूँ आँसू बनकर
आज सँवरी हूं आईने में बस तेरे लिए
आज फिर बिखर जाएगा कजरा बहकर

अपने आँचल की घूँघट ओढ़कर
तेरी दुल्हन रोती है राह देखकर
तू न आया है, न तू आएगा
आज फिर बिखर जाएगा कजरा बहकर

कहां रहता है इस बेरहम ज़माने में
मन में आता है, सामने क्यूँ नहीं आता
ओ सलोने तेरी याद में रो-रोकर
आज बिखर जाएगा कजरा बहकर

सोलहवाँ साल बीता है जाने कबके
कई रूत आके गुजरी है दुख देकर
एक नई रात दुख की घिर आई है
आज फिर बिखर जाएगा कजरा बहकर

I Like SMS - Like: 11 - SMS Length: 1226 - Share
Added 11 months ago

दिल जो तोड़ा तो किया कोई बुरा काम नहीं
जानेमन तेरी मुकम्मल कोई दास्तान नहीं

जो अधूरा हो मगर फिर भी पूरा लगता हो
सिवाय इश्क के है ऐसा कोई मुकाम नहीं

मंजिलों के लिए मरते हैं वो मुसाफिर ही
जिनके सर पे आवारगी का इल्ज़ाम नहीं

कभी छोटी सी एक बात बुरी लगती थी
आज कितनी भी बड़ी बात से परेशान नहीं

I Like SMS - Like: 11 - SMS Length: 756 - Share

SMS Language

English SMS
Hindi SMS
Both SMS
Download! SpicySMS Android App
Android App